जी एंटरटेनमेंट समूह में अगले 6 वर्ष में 3 अरब दर्शकों तक पहुंचने का उत्साह

0
मीडिया और मनोरंजन के महारथी जी एंटरटेनमेंट ने मिलकर असाधारण काम करने का वायदा किया  समूह में अगले 6 वर्ष में 3 अरब दर्शकों तक पहुंचने का उत्साह
 25 वर्ष पहले अग्रणी अंतर्राष्ट्रीय मीडिया एवं मनोरंजन समूह जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइज लिमिटेड (जेडईईएल) ने भारत के पहले हिंदी सैटेलाइट चैनल ज़ी टीवी की शुरूआत की थी। तब से, ज़ी विस्तार करके मीडिया और मनोरंजन जगत का महारथी बन गया और इसने सभी क्षेत्रों, भाषाओं और मंच में कार्यक्रम उपलब्ध कराने की अपनी क्षमता सिद्ध की। इस यादगार अवसर की स्मृति में जी ने एकीकृत ब्रैंड अनुभव उपलब्ध कराने और असाधारण को अनुभवातीत होने की प्रेरणा देने एवं असाधारण बनने के लिए असाधारण मनोरंजन एवं अनुभव सृजित करने के जरिए दुनिया भर में उपभोक्ताओं को खुश करने के लिए अपनी नई ब्रैंड विचारधारा और उद्देश्य “साथ मिलकर असाधारण” प्रकट किया।
ज़ी की नई कॉरपोरेट ब्रैंड विचारधारा के बारे में जेडईईएल के एमडी और सीईओ श्री पुनीत गोयनका ने कहा, “हमारे चेयरमैन डॉक्टर सुभाष चंद्रा के दृष्टि और अग्रणी प्रयासों के कारण देश में 25 वर्ष पहले क्रांति हुई। इस दौरान जी टेलीविजन प्रसारक से मीडिया एवं मनोरंजन समूह बन गया और इसने अपना कारोबार संगीत, फिल्मों के प्रसारण से लेकर डिजिटल, लाइव मनोरंजन और थियेटर, तथा दुनिया भर के दर्शकों को मनोरंजन की असाधारण रेंज उपलब्ध कराने तक फैला लिया। हमारा नया ब्रैंड दर्शन “साथ मिलकर असाधारण” इसी विचारधारा पर आधारित है कि सहयोग असाधारण कार्य करने की ताकत बने। विविध क्षेत्रों और कारोबार में रुचि के साथ हमारे जैसी अंतर्राष्ट्रीय कंपनी में, हमें विश्वास है कि जीतने के लिए हमारी क्षमता प्रभावी ढंग से साथ आने और बाजार में असाधारण होने की इस ताकत का लाभ उठाने में सक्षम बनाती है।”
ज़ी आज 173 से अधिक देशों में मौजूदगी और दुनिया भर में 1 अरब 30 करोड़ दर्शकों तक पहुंच के साथ दुनिया की सबसे बड़ी कंटेंट कंपनियों में शामिल है तथा भारत में एकमात्र ऐसी कंपनी है  जिसकी मीडिया एवं मनोरंजन में ऐसी विविध मौजूदगी है। अगले छह वर्ष में 3 अरब दर्शकों तक पहुंचने के ठोस लक्ष्य के साथ कंपनी ने विविध टैस्ट, पसंद, संस्कृति और डेमोग्राफीज के दर्शकों की मांग पूरी करने के लिए अपने कार्यक्रम क्षेत्र को विस्तृत बनाने के लिए अथक परिश्रम किया है।
कंपनी की वृद्धि की योजनाओं की जानकारी देते हुए अंतर्राष्ट्रीय प्रसारण व्यवसाय, जेडईईएल के सीईओ श्री अमित गोयनका ने कहा, “उभरते बाजारों में विश्व की अग्रणी ग्लोबल कंटेंट कंपनी बनने के विजन के साथ, कंटैंट हमारा कोर फोकस एरिया है तथा हमारा प्राथमिक उद्देश्य विविध मंचों पर सभी प्रकार के दर्शकों के लिए असाधारण कार्यक्रम बनाना है। डिजिटल पर हमारा खास ध्यान है और अगले कुछ सप्ताहों में हम अपना क्रांतिकारी डिजिटल मंच जेड 5 जल्द आरंभ करने जा रहे हैं।”
ग्लोबल विजिनरी डिजाइनर मार्टिन लैम्बी-नैइर्न, क्रीएटिव डायरेक्टर का डिजाइन एमएल-एन जी की नई ब्रैंड पहचान- ‘‘एक्स्ट्राऑर्डिनरी टुगेदर” विश्व का उत्सव मनाने और उसे मनोरंजन के रूप में साकार करने के कंपनी के मिशन का प्रतिनिधित्व करता है। न्यू ब्रैंड लोगो का गोलाकार रूप निरंतरता और समावेश का प्रतीक है 
तथा स्पेशल कलर – ज़ी की एमेथिस्ट सृजनात्मकता और कायाकल्प का प्रतिनिधित्व करता है। विजुअल प्रोपर्टी, क्रीएटिव इनर्जी का कलरफुल एक्सप्लोजन जी को असाधारण संभावनाओं का लाभ उठाने में सक्षम होने का प्रतिनिधित्व करता है।  
नई पहचान के लिए अपनी सोच के बारे में एमएल-एन के क्रीएटिव डायरेक्टर मार्टिन लैम्बी-नैम ने कहा, “25 वर्ष ऐसा उत्सव है जो बताता है कि हमने क्या हासिल किया है और उससे भी महत्वपूर्ण यह समझना है कि हम कहां जा रहे हैं, ब्रैंड के उद्देश्य के बारे में फिर से सोचना और यह विचार करना कि अपने दर्शकों की भावी मांग को कैसे पूरा करना है। नई ब्रैंड पहचान बनाने से पहले, हमारा पहला कदम ज़ी की इस समृद्ध विरासत को समझना और दर्शकों की महत्वाकांक्षाओं को पहचानना तथा फिर ब्रैंड के उद्देश्य एवं विचारधारा तय करना है जो फ्यूचर-रेडी हों।  इससे हमें सही मायने में ग्लोबल ब्रैंड आर्किटेक्चर बनाने में मदद मिली जो सभी क्षेत्रों, बिजनेस और देशों में संचालन आसान बनाएगा और उससे भी महत्वपूर्ण उसे जादुई रूप देगा।
ज़ी के ब्रैंड और बिजनेस की इस विविध और विशाल बकेट के साथ ऐसा गोल्डन धागा बहुत आवश्यक है जो सभी तरह के बिजनेस और खूबसूरती और मोनोलिथिक डिजाइन लैंगवेज में जोड़ता हो और संगठन को साथ मिलकर असाधारण सृजन के लिए प्रेरणा देता हो।”
सहयोग के इस सफर पर बल देते हुए जी का लक्ष्य सभी श्रेणी, भाषा और क्षेत्रों में असाधारण मनोरंजन कंटेंट उपलब्ध कराना जारी रखना तथा छोटे पर्दे और मंच और उपकरण के दर्शकों को खुश करना है।

loading...