फेसबुक अकाउंट डिलीट करने के बाद भी रखता है इन चीजों का रिकॉर्ड, जानिए

0

नई दिल्ली । फेसबुक पर निजी जानकारी या डाटा चोरी के मामले के बाद पूरी दुनिया में कई यूजर्स ने अपने फेसबुक अकाउंट डिलीट करने शुरू कर दिए हैं। यही नहीं, कई टेक इंडस्ट्री के जाने-माने लोगों ने भी फेसबुक और मार्क ज़ुकरबर्ग की आलोचना की। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर #DeleteFacebook टॉप ट्रेंड्स में से एक रहा। h

फेसबुक के पास है आपकी कई डिटेल्स: मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यूजर्स ने जब फेसबुक प्रोफाइल डिलीट करने का प्रयाद किया तो उन्हें पता चला की फेसबुक फोन में आए इनकमिंग-आउटगोइंग कॉल्स और एसएमएस का सारा ब्यौरा स्टोर कर के रखता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, फेसबुक ने यूजर्स के लिए अपने अकाउंट डिलीट करना मुश्किल बना दिया है। अकाउंट को डिलीट करने के बजाय उसे डिएक्टिवेट करने का विकल्प दिया जाता है। इस तरह अकाउंट डिएक्टिवेट करने के बाद भी यूजर्स का डाटा और निजी जानकारी हमेशा फेसबुक के सर्वर पर रहती है।

क्या है फेसबुक का कहना: इसकी प्रतिक्रिया में फेसबुक का कहना है की- ”इन एप्स या सेवाओं का काम आसानी से लोगों को आपस में कनेक्ट करने का विकल्प उपलब्ब्ध कराना है। इसलिए जब आप पहली बार किसी मैसेजिंग या सोशल एप पर साइन इन करते हैं तो अधिकतर एप्स इसकी शुरुआत फोन कॉन्टैक्ट्स अपलोड के के करती है।”

आगे कंपनी का कहना है की- ”कॉन्टैक्ट्स अपलोड करना वैकल्पिक है। लोगों से पूछा जाता है की वो फोन से अपने कॉन्टैक्ट्स अपलोड करना चाहते हैं या नहीं। लोग पहले अपलोड की गई जानकारी को किसी भी समय डिलीट कर सकते हैं। इसी के साथ अपनी पूरी जानकारी अकाउंट और एक्टिविटी लोग में देखी जा सकती है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, एंड्रॉयड मैसेंजर भी सभी कॉल और एसएमएस पढ़ने की परमिशन मांगता है। कंपनी का कहना है की यूजर्स के पास कॉन्टैक्ट्स अपलोड ना करने का विकल्प मौजूद होता है। इसी के साथ पहले से उपलोड किये गए कॉन्टैक्ट्स को डिलीट भी किया जा सकता है। ऐसा मैसेजिंग एप की अपलोडिंग सेटिंग में जा कर किया जा सकता है। फेसबुक को हमेशा के लिए डिलीट करने से भी पहले से अपलोड किए गए कॉन्टैक्ट्स डिलीट हो जाते हैं। लेकिन ये डाटा फेसबुक सर्वर पर फिर भी उपलब्ध हो सकता है।

loading...