शीर्ष टीमों के खिलाफ मिली सफलता से मनोबल बढ़ा : रानी

0

नई दिल्ली। भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने कहा है कि इस साल जिस प्रकार विश्व की शीर्ष टीमों के खिलाफ हमें सफलता मिली है उससे टीम का आत्मविश्वास बढ़ा है और अब वह किसी का सामना करने से नहीं डरती। इस साल टीम एशियाई खेलों और चैंपियंस ट्रोफी में उपविजेता रही। लंदन में भी विश्व कप में टीम क्वॉर्टर फाइनल तक पहुंची और कॉमनवेल्थ गेम्स में वह चौथे स्थान पर रही।

रानी ने कहा, ‘हम एशियाई खेलों और एशियाई चैंपियंस ट्रोफी में स्वर्ण पदक जीतना चाहते थे पर कुल मिलाकर पिछले साल प्रदर्शन अच्छा रहा।’ उन्होंने कहा, ‘कॉमनवेल्थ गेम्स में इंग्लैंड को 2-1 से हराना और विश्व कप में लंदन में उनसे 1-1 से बराबरी पर रहने और कॉमनवेल्थ में सेमीफाइनल तक पहुंचने से टीम का मनोबल बढ़ा है।’

रानी ने कहा, ‘हम बड़े टूर्नमेंटों में कड़ी चुनौती दे रहे हैं। हमें विरोधी टीमें अब गंभीरता से ले रहीं हैं और यहीं इस साल की सबसे बड़ी उपलब्धि है।’ उन्होंने कहा, ‘हमारी अंडर-18 टीम ने भी युवा ओलिंपिक खेलों में अच्छा प्रदर्शन करके रजत पदक जीता है। टीम में सभी खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन कर अपना योगदान दे रहे हैं।’

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here