अब सिर्फ ड्राइव ही नहीं कार आपको बिजली और पानी भी देगी

0

नई दिल्ली: आजकल की कार मॉडल्स लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से लैस होते हैं. जीपीएस से लेकर स्मार्ट साउंड सिस्टम यहां तक कि गाड़ी में कैमरा भी लगा हुआ है. कई गाड़ियों में ऑटो ड्राइव और ऐसे सेंसर की भी सुविधा है, जिससे आपकी कार सड़क पर चल रही दूसरी कार से नहीं टकराएगी. लेकिन इससे भी एडवांस होते हुए ऐसे चार फीचर पर काम किया गया है, जो आपके अनुभव को और भी बेहतरीन बना देगा. इससे आपको कार में उसी में बना पानी मिल सकेगा साथ ही ड्राइव करते हुए भी आप अपने घर में मौजूद चीजों को कंट्रोल कर सकेंगे.

Wi-Fi हॉटस्पॉट
अब कार में भी आपको वाई-फाई की सुविधा मिल सकेगी. जनरल मोटर्स ने अपने कुछ कार मॉडल्स में इस तकनीक का इस्तेमाल किया है, जिससे कार में मौजूद शख्स को 4जी स्पीड से इंटरनेट यूज करने को मिलेगा. आजकल की गाड़ियों में मैकेनिकल की जगह सॉफ्टवेयर संबंधी बदलाव ज्यादा किए जा रहे हैं. ऐसा इसलिए भी है क्योंकि मैकेनिकल से ज्यादा गाड़ी में लगे सॉफ्टवेयर को अपडेट कर या चिप जोड़ उसमें नया फीचर ऐड करना ज्यादा आसान होता है. जबकि मैकेनिकल बदलाव के लिए गाड़ी के मॉडल के साथ चीजों को जोड़ना और उसके अनुरूप पूरी डिजाइन बनानी पड़ती है.

बिजली उत्पादन
कार सिर्फ बिजली से चलेगी ही नहीं बल्कि इसका उत्पादन भी करेंगी. अमेरिका के कैलिफोर्निया में फ्यूल सेल कार की बिक्री शुरू हो गई है. ये कार उस केमिकल प्रक्रिया के जरिए एनर्जी का उत्पादन करती है, जो हाईड्रोजन को पानी में तब्दील कर देती है. इस एनर्जी को बैकअप पावर सोर्स की तरह भी इस्तेमाल किया जा सकता है. टोयोटा की मिराई कार में मौजूद ट्रंक में ऐसा एसी आउटलेट है जो ब्लैकआउट की स्थिति में आपको बिजली दे सकता है. वहीं जनरल मोटर्स ने आर्मी के लिए ऐसा ट्रक तैयार किया है जिसमें बिजली उत्पादन के लिए तीन टन का फ्यूल सेल टैंक लगा है.

कार में मिलेगा पानी
फोर्ड कंपनी के लिए काम करने वाले दो इंजीनियर्स ने नई टेक्नोलॉजी का ईजाद की है, जो कार में चलने वाले एसी के कॉइल से पानी की बूंदों को इकट्ठा कर उसे फिल्टर करते हुए एक टैंक में इकट्ठा करता है. जिसे कार में फ्रंट सीट के पास लगे वॉटर डिस्पेंसर के जरिए ड्राइव कर रहा शख्स पी सकता है.

कार से ही करें घर को कंट्रोल
इंटरनेट से कनेक्ट होने पर कार से ही घर में मौजूद चीजों को कंट्रोल किया जा सकेगा. ऑटोमोबाइल कंपनी टेस्ला ने इसके लिए एक एप बनाया है. हालांकि, इसके लिए घर में लगे डिवाइस भी ऐसे होना चाहिए जो रिमोट या नेट के जरिए एक्सेस किए जा सकें.

News Source: zeenews.india.com

loading...