शीर्ष नेतृत्व के उत्तराखंड दौरों से भाजपा गदगद

0

देहरादून : 12 ज्योर्तिलिंगों में से एक केदारनाथधाम में इस साल तीन मई को कपाट खुले तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस क्षण के साक्षी बने। इसके जरिये केंद्र और राज्य सरकार ने यह संदेश देने की कोशिश की कि केदारनाथ समेत चारधाम की यात्रा सुरक्षित है। यही नहीं, छह मई को तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी बदरीनाथ में दर्शन किए। अब मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने विपरीत मौसम के बावजूद दो दिनी प्रवास के दरम्यान धर्मनगरी हरिद्वार में कुछ समय बिताने के साथ ही बदरीनाथ और केदारनाथ धाम में दर्शन किए।

देश की इन प्रमुख हस्तियों की उत्तराखंड में दिलचस्पी और वह भी भाजपा सरकार के महज छह माह के कार्यकाल के दौरान। जाहिर है कि इससे सरकार और भाजपा संगठन दोनों को इतराने का अवसर जरूर मिला है।

असल में, 2013 में आई आपदा के बाद चारधाम यात्रा पटरी से उतर गई थी, लेकिन अब यह बीते दौर की बात हो चली है। केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के साथ ही हेमकुंड साहिब में इस साल अब तक उमड़े 21 लाख से अधिक यात्रियों का सैलाब इसकी तस्दीक भी करता है।

इस वर्ष जब तीन मई को केदारनाथधाम के कपाट खुले तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस मौके पर मौजूद थे। उन्होंने अपनी इस यात्रा के जरिये संदेश दिया कि उत्तराखंड में चारधाम यात्रा पूरी तरह सुरक्षित है और केंद्र व राज्य सरकारें यात्रा को निरापद बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी।

फिर, जिस प्रकार से अपने वायदे के अनुरूप मोदी सरकार ने चारधाम के लिए ऑल वेदर रोड परियोजना की मंजूरी दी है, उससे भी भरोसा बना है। अब मौसम की दुश्वारियों की परवाह किए बिना जिस प्रकार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केदारनाथ और बदरीनाथ में दर्शन किए, उससे भी सुरक्षित व सुगम यात्रा का संदेश और अधिक प्रबल हुआ है।

छह माह के दरम्यान उत्तराखंड आई इन हस्तियों के दौरों को भाजपा एक बड़ी उपलब्धि के रूप में मान रही है। सरकार और पार्टी का मानना है कि हस्तियों के दौरों से यात्रा को लेकर विश्वास कायम होने के साथ ही बेहतर माहौल बना है।

फिर बड़े नेताओं का यह सिलसिला आने वाले दिनों में भी जारी रहने वाला है। पार्टी नेताओं के मुताबिक यदि केंद्र के बड़े नेता यहां आ रहे हैं तो इससे फायदा उत्तराखंड का ही होगा।

अगले 15 दिन में संभावित दौरे

-29 सितंबर: केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह का उत्तराखंड दौरा, सीमा पर आइटीबीपी चौकियों का करेंगे निरीक्षण

-तीन अक्टूबर : उप राष्ट्रपति वैंकेया नायडू हरिद्वार जिले के कुंजा बहादुरपुर गांव में शहीद दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में करेंगे शिरकत

-पांच अक्टूबर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मसूरी में लाल बहादुर शास्त्री प्रशासनिक अकादमी में आयोजित कार्यक्रम में लेंगे भाग

सुरक्षित और सुगम यात्रा का संदेश 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के मुताबिक चारधाम यात्रा के शुभारंभ में इस वर्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने केदारनाथ और बदरीनाथ में दर्शन किए थे। अब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दौरे से सुरक्षित और सुगम यात्रा का संदेश प्रबल हुआ है।

उन्होंने कहा कि देश के शीर्ष नेतृत्व ने जिस प्रकार उत्तराखंड सरकार के निमंत्रण को स्वीकार कर चारधाम यात्रा के दो प्रमुख धामों में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई, उससे आमजन और देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं व सैलानियों के मन में उत्तराखंड के प्रति विश्वास का भाव बढ़ा है।

News Source: jagran.com

loading...