आस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत से शुरुआत करने उतरेगी टीम इंडिया

0

एडीलेड। विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया गुरुवार से यहां आस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरु हो रहें पहले क्रिकेट टेस्ट में जीत के साथ शुरुआत करने उतरेगी। भारतीय टीम का लक्ष्य इस सीरीज को जीतकर 70 साल के सूखे को समाप्त करना रहेगा। हाल के समय में जिस प्रकार भारतीय टीम लय में है उससे टीम का मनोबल बढ़ा हुआ है। इस सीरीज में जीत के साथ ही भारतीय टीम ये भी साबित करना चाहेगी कि विदेशी धरती पर भी वह जीतने में सक्षम है। इस बार भारतीय टीम के पास इसलिए अच्छा अवसर है क्योंकि मेजबान टीम स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर के नहीं रहने से बेहद कमजोर है। यह भी कहा जा रहा है कि अगर इस बार भारतीय टीम नहीं जीत पायी तो उसे फिर अवसर नहीं मिलेगा। टीम इंडिया के पास विराट कोहली, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे जैसे बल्लेबाज हैं , वहीं भारत की गेंदबाजी लाइनअप भी अच्छी है। भारत ने उछाल भरी विकेट को देखते हुए ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी जैसे तेज गेंदबाजों को शामिल किया है।

चोटिल हरफनमौला हार्दिक पंड्या की गैर मौजूदगी से टीम के तेज गेंदबाजों को उनकी कमी भी पूरी करनी होगी।
पंड्या की गैर मौजूदगी में अतिरिक्त बल्लेबाज की जगह रोहित शर्मा को मिलना तय है। उन्होंने आखिरी बार टेस्ट क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका में खेला था और पांचवें नंबर पर उतरकर चार पारियों में 78 रन ही बना सके थे। वहीं इंग्लैंड के गेंदबाजों के सामने प्रभावी रहे विहारी ने वहां पहला अर्धशतक जमाया था। भारत को अगर जीत हासिल करनी है तो विराट पर निर्भरता कम करते हुए सभी बल्लेबाजों को भी रना बनाने होंगे। चेतेश्वर पुजारा ने भी कहा है कि उनकी टीम विराट पर ही निर्भर नहीं है जो उसे सही साबित भी करना होगा। इस मैच में सलामी बल्लेबाज मुरली विजय और लोकेश राहुल को एक और अवसर मिला है। हाल के दिनों में यह दोनो ही बड़ा स्कोर नहीं बना पाये हैं। अब देखना है इस बार यह कितने सफल होते हैं। सबसे पहला तो बल्लेबाजी में कप्तान कोहली पर निर्भरता कम करनी होगी। कोहली ने दक्षिण अफ्रीका में तीन टेस्ट में 286 रन बनाये। चेतेश्वर पुजारा 100 रन ही बना सके जबकि मुरली विजय ने 102 और केएल राहुल ने दो टेस्ट में 30 रन बनाये।

वहीं इंग्लैंड में दो टेस्ट में 26 रन के बाद विजय को स्वदेश भेज दिया गया। राहुल पांच टेस्ट में 299 रन ही बना सके। विदेश में पिछली नौ पारियों में वह 150 ही बना सके हैं। भारत ने आठ टेस्ट में चार अलग अलग सलामी जोड़ियां उतारी हैं जिनमें जोहानिसबर्ग टेस्ट में पार्थिव पटेल ने विजय के साथ पारी की शुरुआत की। पृथ्वी शॉ की चोट के कारण अब राहुल और विजय पारी शुरु कर सकते हैं। जहां तक गेंदबाजी आक्रमण की बात है ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और आर अश्विन कमान संभालेंगे। आस्ट्रेलिया ने चार तेज गेंदबाजों मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, जोश हेजलवुड और नाथन लियोन को टीम में शामिल किया है।

दोनो टीमें इस प्रकार हैं :
भारत: विराट कोहली (कप्तान), केएल राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, आर अश्विन, ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी।
आस्ट्रेलिया: टिम पेन (कप्तान), मार्कस हैरिस, आरोन फिंच, उस्मान ख्वाजा, ट्रेविस हेड, शान मार्श, पीटर हैंडस्कांब, नाथन लियोन, मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, जोश हेजलवुड।

loading...