अब स्मार्टफोन से पानी की शुद्धता की होगी जांच,बीमारियों से मिलेगी निजात

0

ह्यूस्टन : वैज्ञानिकों का कहना है कि उन्होंने स्मार्टफोन एवं इंकजेट प्रिंटर से बनाए गए एक लैंस का इस्तेमाल करते हुए कम दम वाली एक प्रणाली विकसित की है जो नल के पानी में सीसे (लैड) के उस स्तर का पता लगा पाने में सक्षम है जिसे आम तौर पर खतरनाक माना जाता है.

इस प्रणाली में नैनो-कलरीमेट्री (रंग द्वारा रासायनिक विश्लेषण) और स्मार्टफोन माइक्रोस्कोप प्लेटफॉर्म में समेकित डार्क-फील्ड माइक्रोस्कोपी को साथ जोड़ा गया है जो अमेरिकी पर्यावरण संरक्षण एजेंसी (ईपीए) द्वारा निर्धारित सुरक्षा मानकों से नीचे के स्तर को मालूम करते हैं. अमेरिका के ह्यूस्टन विश्वविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर वे चुआन शिह ने कहा कि यह प्रणाली तेज, कम कीमत वाली है और पेयजल में सीसे की मात्रा का पता लगाने में सक्षम है.

सीसे की कम मात्रा भी गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती है खासकर कि छोटे बच्चों में तंत्रिका संबंधी समस्या पैदा होने का खतरा बढ़ जाता है. ईपीए मानकों के हिसाब से सीसे का स्तर पेयजल में प्रति अरब 15 हिस्से से नीचे होना चाहिए और शिह ने कहा कि

वर्तमान में उपलब्ध जांच किट उस स्तर तक सीसे की मौजूदगी का सटीक पता लगाने में सक्षम नहीं हैं. इस प्रणाली का विस्तृत ब्यौरा ‘एनालिटिकल केमिस्ट्री’ पत्रिका में दिया गया है.

ज्यादा पानी पीने से शरीर में हो सकती है परेशानी, नुकसान जान हैरान हो जाएंगे आप
गर्मी हो या सर्दी पानी पीने के फायदों के बारे में तो आपने खूब सुना होगा. घर-परिवार में बड़ों से आपने यही सुना होगा कि पानी का ज्यादा से ज्यादा सेवन शरीर को फायदा देता है इसलिए खूब पानी पिएं. गर्मियों के सीजन में पानी की जरूरत बढ़ जाती है.

लेकिन आपको यह बात पता होनी चाहिए कि जरूरत से ज्यादा पानी पीने से भी आपको परेशानी हो सकती है. जी हां, हाल ही में आए एक शोध के नतीजों से यह बात सामने आई है. शोध से पता चला है कि जरूरत से ज्यादा पानी पीने से आपके दिमाग में सूजन आ सकती है.

शोध से साफ हुआ है कि शरीर में पानी की मात्रा ज्यादा होने पर सोडियम का लेवल तेजी से कम होने लगता है. इससे दिमाग में सूजन आ सकती है. सूजन बढ़ने पर हाइपोट्रिमिया का खतरा बढ़ जाता है,

यह एक खतरनाक स्थिति होती है. ऐसे में जरूरत से ज्यादा पानी आपको नुकसान दे सकता है. आगे पढ़िए ज्यादा पानी पीने से होने वाले नुकसान के बारे में.

http://zeenews.india.com/hindi/india

loading...